कोरोना संकट के बीच Unlock 1 के ऐलान पर भड़के प्रशांत किशोर, बोले- हम खुद को बड़ी तबाही की ओर धकेल रहे 

0
29

खास बातें

  • लॉकडाउन को लेकर प्रशांत किशोर ने साधा निशाना
  • सरकार ने लॉकडाउन को 30 जून तक के लिए बढ़ाया
  • इस चरण में आर्थिक गतिविधियों को खोलने पर होगा जोर

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी पर नियंत्रण के लिए देशभर में लगाए गए लॉकडाउन को लेकर प्रशांत किशोर ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. साथ ही उन्होंने देश की आर्थिक गतिविधियों में तेजी लाने के लिए चरणबद्ध तरह से रियायत देने (Unlock1) के फैसले पर भी सवाल उठाए हैं. प्रशांत किशोर ने रविवार को अपने ट्वीट में लिखा- “एक असफल लॉकडाउन और लगातार की गई रणनीतिक गलतियों ने एक सार्वजनिक स्वास्थ्य समस्या को पूर्ण रूप से मानवीय संकट बना दिया है. इस कार्य प्रणाली में वैज्ञानिक साक्ष्य और आंकड़ों पर आधारित सुधार के बजाय, अब Unlock1 कर, हम खुद को एक बड़ी तबाही की ओर धकेल रहे हैं.

गृह मंत्रालय ने शनिवार को लॉकडाउन (Lockdown) को कंटेनमेंट ज़ोन तक सीमित करके अवधि को 30 जून तक के लिए बढ़ाया है. हालांकि, इस दौरान लॉकडाउन को धीरे-धीरे हटाया जाएगा. लॉकडाउन 5.0 में कंटेनमेंट ज़ोन को छोड़कर अन्य क्षेत्रों को चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा. इसका (Unlock1) पहला चरण आठ जून से लागू होगा. इसके तहत, 8 जून से मॉल, रेस्टोरेंट और धार्मिक स्थल खुल सकेंगे.

लॉकडाउन एक्जिट योजना के तहत, सार्वजनिक स्थानों और धार्मिक स्थल, होटल, रेस्तरां और अन्य आतिथ्य सेवाएं और शॉपिंग मॉल को 8 जून, 2020 से खोलने की अनुमति दी जाएगी. इसको लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) जारी करेगा. वहीं, दूसरे चरण में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ विचार-विमर्श के बाद स्कूल, कॉलेज, शैक्षिक/प्रशिक्षण/कोचिंग संस्थान आदि, खोले जाएंगे. जुलाई से यह संस्थान खोले जा सकेंगे.

वहीं, तीसरे चरण के तहत, अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा, मेट्रो रेल का संचालन, सिनेमा हॉल, व्यायामशाला (जिम), स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क आदि के लिए तिथियों का निर्धारण स्थिति के आकलन के आधार पर किया जाएगा.

Source link